जून 19, 2017

ताज महल पैलेस, मुंबई ने अपनी प्रतिष्ठित होटल इमारत व गुंबद के लिए भारत का पहला ट्रेडमार्क पंजीकरण हासिल किया

मुंबई के क्षितिज तथा भारत के लिए पहला, ताजमहल पैलेस की प्रतिष्ठित होटल इमारत तथा हस्ताक्षर गुंबद ने अपनी पहचान वाली संरचना के लिए एक इमेज ट्रेडमार्क हासिल किया है

मुबई: ताज महल पैलेस, ताज होटल्स पैलेसेस रिसॉर्ट्स सफारीस का प्रतिष्ठित फ्लैगशिप है, और मुंबई के शहर की पहचान वाली संरचनाओं में शामिल है। 1903 से इसकी पहचान वाला गुंबद हार्बर में भारतीय नेवी को गाइड करने के लिए एक त्रिभुजाकार बिंदु रहा है, यह शहर के लचीलेपन का स्थिर प्रतीक रहा है और भारतीय सत्कार का प्रतिमान रहा है। उद्योग में एक और काम पहली बार करते हुए ताज महल पैलेस मुंबई ने अपनी खूबसूरत होटल इमारत तथा इसके चितपरिचित गुंबद को भारत सरकार से ट्रेडमार्क अधिकार के लिए पंजीकृत कराया है।

किसी शहर का क्षितिज उसकी पहचान होता है – यह शहरी चरित्र को स्थापित करता है और इसके लैंडमार्क को तत्काल पहचान दिलाता है और शहर की समय यात्रा के बीच याद पैदा करता है। ताजमहल पैलेस, मुंबई अब पूरी दुनिया की उन प्रतिष्ठित संरचनाओं के विशिष्ट समूह का हिस्सा बन गया है जिनके पास अपने ट्रेडमार्क अधिकार हैं।

तेजिन्दर सिंह, क्षेत्र निदेशक – मुंबई और महाप्रबंधक, ताजमहल पैलेस, मुंबई ने कहा, “एक सदी से अधिक समय से ताज के गुंबद ने मुबई के क्षितिज को संभाला है – यह शहर की आत्मा का अविस्थापनीय हिस्सा है और इस ट्रेडमार्क के माध्यम से मुंबई के लोगों और इसके इतिहास के प्रतीक के रूप में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका को सम्मानित करके हमें बहुत गर्व महसूस हो रहा है। हमारे अग्रणी संस्थापक जमशेदजी टाटा के लिए, ताजमहल पैलेस भारतीय आतिथ्य के भविष्य के लिए उनका विज़न होने के साथ-साथ मुंबई शहर के लिए उनकी विरासत था।”

यह विशिष्ट लाल-टाइल्स वाला फ्लोरेंटाइन गॉथिक गुंबद, जिसमें होटल के सुरुचिपूर्ण इंडो-सरैसेनिक मेहराब और आर्किट्रेव लगे हैं सड़क से 240 फीट की ऊंचाई पर रखा है। 16 दिसंबर 1903 में इसके खुलने पर, इस होटल के आर्किटेक्ट्स ने इसे विक्टोरिया टर्मिनस (अब छत्रपति शिवाजी टर्मिनस) के गुंबद के नजदीक मॉडल किया।

“भारत में इस सबसे अधिक पहचान वाली इमारत के संरक्षण तथा रखरखाव के लिए हम काफी संजीदा हैं। यह एक आइकन है जो ना केवल मुंबई बल्कि भारत की अदम्य भावना की तरह खड़ा है। यह ट्रेडमार्क इस महान होटल की 114 साल लंबी यात्रा का मील का पत्थर है। इस खुशी में यह तथ्य और वृद्धि करता है कि यह होटल इस देश में अपनी तरह का पहला रजिस्ट्रेशन हासिल करना वाला बन गया है, जो इसे दुनिया की कुछ चुनिंदा इमारतों में शामिल करता है जिनके पास इसकी बौद्धिक सम्पदा अधिकार है।”राजेन्द्र मिश्रा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष- जनरल काउंसेल, ताज होटल पैलेसेस रिसॉर्ट सफारीज ने कहा।

अनेक लोगों को यह नहीं पता है कि ताज महल पैलेस, मुंबई, प्रसिद्ध गेटवे ऑफ इंडिया से भी 20 बरस पुराना है। भारतीय इतिहास के दोराहे पर स्थित लॉर्ड माउंटबेटन ने भारत की स्वतंत्रता की घोषणा ताजमहल पैलेस, मुंबई की सीढ़ियों से की थी। यह होटल मोहम्मद अली जिन्, सरोजनी नायडू तथा अनेक अन्य भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के घर की तरह था। स्वतंत्र भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले प्रमुख भाषणों में से एक इसी होटल से 1947 में दी गयी थी। ताजमहल पैलेस, मुंबई अकेला ऐसा होटल था जिसके उद्घाटन के समय बिजली उपलब्ध थी और जहां पर नील आर्मस्ट्रॉन्ग, बीटल्स, जॉन लेनन, सितार उस्ताद पंडित रवि शंकर, और यूएस राष्ट्रपति बराक ओबामा जैस प्रतिष्ठित व्यक्तित्व रुके।

इसके प्रतिष्ठित गुंबद तथा विशाल बाहरी हिस्से की छवि के वाणिज्यिक उपयोग के लिए अब ताज होटल्स पैलेसेस रिसॉर्ट्स सफारीस से पहले लिखित अनुमति लेनी होगी।